March 21, 2023


‘भगवान इसकी आवाज से सो नहीं पाते’: जगन्नाथ मंदिर से हटाई गई चूहे भगाने वाली मशीन


चूहे से सभी परेशान रहते हैं। किसानों का तो ये सबसे बड़ा दुश्मन है। भगवान जगन्नाथ मंदिर में चूहों का आतंक इस कदर है कि भगवान की प्रतिमाएं भी सुरक्षित नहीं है। इनको भगाने के लिए मशीन लगाई गई थी मगर वो अब हटा दी गई है

भुवनेश्वर। न्यूज डेस्क । चूहों से सिर्फ आप हम परेशान हीं है बल्कि अब तो खुद ‘भगवान’ भी परेशान हो गए हैं। भगवान जगन्नाथ मंदिर का गर्भग्रह भी चूहों से अछूता नहीं है। यहां पर चूहों को भगाने वाले एक मशीन लगाई गई थी। मगर सेवादारों का कहना है कि रातभर इस मशीन से अजीब से आवाज आती है। भनभनाहट की आवाज के कारण भगवान की निद्रा पर खलल पड़ता है। मंदिर प्रशासन ने भी उनकी बात को सुना और उस पर अमल करते हुए मशीन को तुरंत हटा दिया है।

घर में चूहा न घुस जाए इसके लिए लाख जतन किए जाते हैं। दरवाजों को बंद रखना पड़ता है। क्योंकि ये नुकसान करते हैं। घर का सामान कुतर देते हैं। एक दिन पहले ही न्यूयॉर्क के वेल्स में बिल्ली के आकार के चूहे लोगों को निशाना बना रहे हैं। इसके लिए प्रशासन समुद्री तट पर मौजूद चट्टानों में चूहों की खोजबीन कर रहे हैं। भगवान जगन्नाथ के मंदिर पर चूहों का आतंक है। ये गर्भग्रह में घुसकर गंदगी करते हैं। कई बार तो इन्हें भगवान के सिंघासन में देखा गया है। ये भगवान की माला, कपड़े तक कुतर रहे हैं. इस समस्या के कारण ही ये मशीन लगाई गई थी।

भगवान की नींद में डिस्टर्ब होता है- सेवादार
मंदिर प्रशासन ने बताया कि जब सेवादारों ने उनसे कहा कि इस मशीन की आवाज से भगवान की निद्रा में खलल पड़ता है। तो तत्काल प्रभाव से मशीन को गर्भग्रह से हटा दिया है। उन्होंने बताया कि चूहों को मंदिर प्रांगण से दूर रखने के लिए इस मशीन का उपयोग किया गया था। क्योंकि हम चूहों को मार नहीं सकते। इनको जहर देने की भी अनुमति है इसलिए यही एक उपाय था।

मटकों में पकड़े जाएंगे चूहे
अब मंदिर प्रांगण में एक नई युक्ति निकाली है। चूहों को पकड़ने के लिए छोटे घड़ों का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अंदर गुड़ डाला जाएगा। उसकी सुगंध से ये उसमें घुस जाएंगे मगर निकल नहीं पाएंगे। फिर उनको दूर कहीं जाकर छोड़ दिया जाएगा। ये चूहे भगवान के कपड़े, जेवरात कुतरे दे रहे हैं। वहीं मल, मूत्र करने से अशुद्धि हो रही है। कई बार जब पूजा और भगवान का भोग लगाया जाता है तो ये चूहे उनके आसपास दिखते हैं। जैसे ही वहां से हटो तो ये उनके ऊंचे सिंघासन में बैठ जाते हैं।

जमीन तक खोद डाली इन चूहों ने
मंदिर के एक सेवादार ने अपनी पीड़ा साझा करते हुए कहा कि ये चूहों के कचरे के कारण पूजा पाठ करना मुश्किल लगता है। ये देवताओं के चेहरे तक खराब कर रहे हैं। चूहों ने मंदिर की फर्श तक तोड़ दी है। और उनके भीतर घर बना लिया है। ये भागकर वहां घुस जाते हैं और सूना पाकर निकल आते हैं। दिन में चहल पहल रहती है तो चूहे भीतर ही घुसे रहते हैं मगर रात होते ही बिल से बाहर निकल आते हैं।




Related Post


+36
°
C
+39°
+29°
New Delhi
Wednesday, 10
See 7-Day Forecast

Advertisement







Tranding News

Get In Touch

New Delhi

contact@vcannews.com

© Vcannews. All Rights Reserved. Developed by NEETWEE